अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
अगस्त 26, 2021
विदेश मंत्री एंटनी जे. ब्लिंकन का बयान

काबुल हवाईअड्डे के पास आज के बम हमले इस बात के भयावह सबूत हैं कि अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिका के 20 साल के सैन्य मिशन की समाप्ति के दौरान हमारे सैनिक और राजनयिक किन ख़तरनाक परिस्थितियों में काम कर रहे हैं। जैसा कि राष्ट्रपति ने कहा, आज हताहत हुए सैनिक नायक हैं। उन्होंने हमारे असैन्य कर्मियों, हमारे सहयोगी देशों और साझेदारों के असैन्य कर्मियों, तथा अमेरिकियों, अन्य देशों के नागरिकों और सुरक्षा की ज़रूरत वाले अफ़ग़ानों की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी। अब तक, काबुल से 100,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है – जोकि इस महत्वपूर्ण मिशन में योगदान देने वाले सभी लोगों की बहादुरी, कौशल और दृढ़ संकल्प का सबूत है। आज हमने जिन्हें खोया उनके लिए हम शोकाकुल हैं। और हम उनके प्रियजनों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हैं।

हमें अन्यत्र नया जीवन शुरू करने के अवसर की उम्मीद में हवाईअड्डे के पास एकत्र अफ़ग़ानों की मौत का भी दुख है। और हम 2001 के बाद से अफ़ग़ानिस्तान में 2,300 से अधिक मृत और 20,000 से अधिक घायल अमेरिकी सैनिकों का, और 800,000 से अधिक उन सैनिकों का स्मरण करते हैं जिन्होंने अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध में अपनी सेवाएं दीं। साथ ही, हम संघर्ष में हताहत हुए अन्य अमेरिकियों को भी याद करते हैं।

दुनिया भर में, अमेरिकी मरीन सैनिक अमेरिकी दूतावासों और राजनयिकों की रक्षा करते हैं। वे खुद को जोखिम में डालते हैं ताकि हम अमेरिकी लोगों के लिए अपना काम कर सकें। हमले के बाद भी, वे अभी काबुल में ऐसा ही कर रहे हैं, और वे दुनिया के अन्य कई हिस्सों में भी ऐसा कर रहे हैं। और जब हम इस मिशन को पूरा कर रहे हैं, वे ऐसा करना जारी रखेंगे।

विदेश विभाग में हम आज और रोज़ उनके प्रति असीम कृतज्ञता का भाव महसूस करते हैं।


मूल स्रोत:  https://www.state.gov/on-todays-terrorist-attacks-in-kabul/

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future