व्हाइट हाउस
अप्रैल 22, 2021
ईस्ट रूम
8:07 पूर्वाह्न ईडीटी

राष्ट्रपति: धन्यवाद, उपराष्ट्रपति महोदया।

दुनिया भर में हमारे सभी सहयोगियों — दुनिया के नेता जो इस शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे हैं उनको सुप्रभात। मैं आपको धन्यवाद देता हूं। आपको मालूम हो कि इस मुद्दे पर आपका नेतृत्व आपके राष्ट्रवासियों और प्रत्येक राष्ट्र के लोगों, विशेषकर हमारे नौजवानों के लिए एक उदाहरण है कि हम तत्काल क़दम उठाने के लिए तैयार हैं। और अभी क़दम उठाने का मतलब हमारी धरती को संरक्षित करने से कहीं अधिक है; यह हम सभी के लिए एक बेहतर भविष्य प्रदान करने के बारे में भी है।

इसीलिए, जब लोग जलवायु के बारे में बात करते हैं, तो मैं रोज़गार की सोचता हूं। हमारे जलवायु प्रयासों में नौकरियों के सृजन और आर्थिक अवसरों का एक असाधारण इंजन निहित है, जोकि चालू किए जाने के लिए तैयार है। यही कारण है कि मैंने अमेरिकी बुनियादी ढांचे और अमेरिकी नवोन्मेष में भारी निवेश का प्रस्ताव किया है ताकि उन आर्थिक अवसरों का दोहन किया जा सके जोकि जलवायु परिवर्तन हमारे कामगारों और हमारे समुदायों को उलब्ध कराता है, विशेष रूप से उन लोगों को जो अक्सर बाहर छूट जाते हैं और पीछे छोड़ दिए जाते हैं।

मैं स्वच्छ प्रौद्योगिकी के उत्पादन और तैनाती के लिए ज़रूरी ढांचा तैयार करना चाहता हूं — दोनों ही तरह का, जिनका कि हम आज उपयोग कर सकते हैं और जिनका कि हम भविष्य में आविष्कार करेंगे।

मैंने विशेषज्ञों से बात की, और मैं एक अधिक समृद्ध और समतापूर्ण भविष्य की संभावना देखता हूं। संकेत स्पष्ट हैं। विज्ञान निर्विवाद है। लेकिन निष्क्रियता की लागत बढ़ती जाती है।

अमेरिका इंतज़ार में नहीं बैठा है। हम कार्रवाई करने का संकल्प ले रहे हैं — न केवल हमारी संघीय सरकार, बल्कि हमारे शहर और देश भर के हमारे राज्य; छोटे व्यवसाय, बड़े व्यवसाय, बड़े निगम; और हर क्षेत्र में अमेरिकी कार्यकर्ता भी।

मुझे अच्छे वेतन वाली, मध्यमवर्गीय, यूनियन के संरक्षण वाली लाखों नौकरियों के सृजन के अवसर दिख रहे हैं।

मुझे एक स्वच्छ, आधुनिक और सुदृढ़ ग्रिड के लिए हज़ारों मील लंबी ट्रांसमिशन लाइन बिछाते हुए लाइन कर्मचारी दिख रहे हैं।

मैं श्रमिकों को उन लाखों परित्यक्त तेल और गैस कुओं को बंद करते हुए देखता हूं, जिन्हें कि साफ करने की आवश्यकता है, और उन परित्यक्त कोयला खदानों को जिनकी ज़मीन को आगे इस्तेमाल करने हेतु मीथेन लीक को बंद करने और हमारे समुदायों के स्वास्थ्य की रक्षा करने की ज़रूरत है।

मैं वाहन निर्माताओं को अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रिक वाहनों का निर्माण करते देखता हूं, और इलेक्ट्रीशियनों को पूरे राष्ट्र में हमारे राजमार्गों पर 500,000 चार्जिंग स्टेशन स्थापित करते हुए।

मैं इंजीनियरों और कंस्ट्रक्शन कामगारों को अधिक स्वच्छ स्टील और सीमेंट बनाने तथा स्वच्छ बिजली का उत्पादन करने के लिए नई कार्बन कैप्चर प्रणाली और हरित हाइड्रोजन प्लांट का निर्माण करते देखता हूं।

मैं किसानों को हमारे मध्यवर्ती इलाक़ों के खेतों को कार्बन इनोवेशन का अगला मोर्चा बनाने की दिशा में अत्याधुनिक उपकरणों का इस्तेमाल करते देखता हूं।

इन निवेशों को जारी रखकर और इन लोगों को काम पर लगाकर, अमेरिका इस दशक के अंत तक ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को आधा करने की दिशा में बढ़ रहा है। एक राष्ट्र के रूप में हम इसी दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, और हमें ये काम करने ही होंगे यदि हम एक ऐसी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए क़दम उठाते हैं जो न केवल अधिक समृद्ध हो, बल्कि पूरी धरती के लिए अधिक स्वास्थ्यकर, अधिक न्यायपूर्ण और अधिक स्वच्छ हो।

आपको मालूम हो कि ये क़दम अमेरिका को 2050 तक नेट-ज़ीरो उत्सर्जन अर्थव्यवस्था के रास्ते पर ला खड़ा करेंगे। लेकिन सच्चाई ये है कि अमेरिका दुनिया के उत्सर्जन में15 प्रतिशत से कम का योगदान करता है। कोई भी राष्ट्र इस संकट को अपने दम पर हल नहीं कर सकता, जोकि मैं समझता हूं आप सभी अच्छे से जानते हैं। हम सभी — और विशेष रूप से हममें से जो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं — हमें अधिक प्रयास करने होंगे।

आप जानते हैं कि जो लोग पहल करेंगे और अपने लोगों और स्वच्छ ऊर्जा वाले भविष्य में साहसिक निवेश करेंगे, उन्हें आने वाले समय में अच्छी नौकरियों के अवसर मिलेंगे, और वे अपनी अर्थव्यवस्थाओं को अधिक मज़बूत और अधिक प्रतिस्पर्धी बना सकेंगे।

इसलिए आइए हम उस दिशा में क़दम बढ़ाएं; अभी की तुलना में अधिक धारणीय भविष्य का निर्माण करें; अपने समय के अस्तित्वगत संकट को दूर करें। हम जानते हैं कि यह कितना महत्वपूर्ण है क्योंकि वैज्ञानिक हमें बता रहे हैं कि यह एक निर्णायक दशक है। यह वो दशक है जब हमें जलवायु संकट के सबसे बुरे परिणामों से बचाने वाले निर्णय लेने होंगे। हमें पृथ्वी के तापमान में वृद्धि को 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने की कोशिश करनी चाहिए।

आपको मालूम हो कि 1.5 डिग्री से अधिक वृद्धि वाली दुनिया का अर्थ है अधिक निरंतरता और तीव्रता वाली आग, बाढ़, सूखा, गर्मी के दौर, तथा समुदायों को तबाह करने वाले, जीवन एवं आजीविका को ख़त्म करने वाले एवं हमारी सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था पर अधिकाधिक गंभीर प्रभाव डालने वाले चक्रवात।

यह निर्विवाद है, जैसा कि आप जानते हैं, कि यदि हमने क़दम नहीं उठाए तो वास्तव में इन सबमे तेज़ी आएगी। हम उस भविष्य के इंतज़ार में बैठे नहीं रह सकते। हमें कार्रवाई करनी होगी, हम सभी को।

और यह शिखर सम्मेलन उस राह पर हमारा पहला क़दम है जिस पर हम सब एक साथ चलेंगे — भगवान ने चाहा तो हम सभी — इस नवंबर में ग्लासगो में संयुक्तराष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में और उससे आगे, दुनिया को एक सुरक्षित, समृद्ध और टिकाऊ भविष्य की दिशा में ले जाने के लिए। दुनिया भर के समुदायों का स्वास्थ्य इस पर निर्भर करता है। हमारे कामगारों का कल्याण इस पर निर्भर करता है। हमारी अर्थव्यवस्थाओं की मज़बूती इस पर निर्भर करती है।

भविष्य के उद्योगों को बनाने के लिए अभी निर्णायक क़दम उठाने वाले देश स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में आगे आने वाली उछाल के आर्थिक लाभों को प्राप्त कर सकेंगे।

आप जानते हैं कि हम यहां इस शिखर सम्मेलन में इस बारे में चर्चा के लिए एकत्रित हुए हैं कि हममें से प्रत्येक, हरेक देश, कैसे उच्च जलवायु लक्ष्य निर्धारित कर सकते हैं, जिसके फलस्वरूप अच्छे वेतन वाली नौकरियों का सृजन होगा, अत्याधुनिक नवीन प्रौद्योगिकियां सामने आएंगी और जोख़िम वाले देशों को जलवायु प्रभावों के अनुकूल तैयारी करने में मदद मिलेगी।

हमें आगे बढ़ना होगा। हमें इन चुनौतियों का सामना करने के लिए जल्दी से आगे बढ़ना होगा। हमारे देश अभी और ग्लासगो सम्मेलन के बीच जो क़दम उठाएंगे, वह दुनिया को आजीविका की सुरक्षा के लिए तैयार करेगा और ग्लोबल वार्मिंग को अधिकतम 1.5 डिग्री सेल्सियस के स्तर पर रख सकेगा। हमें ऐसा करने के लिए अभी क़दम बढ़ाना चाहिए।

यदि हम ऐसा करते हैं, तो हम आसानी से सांस ले पाएंगे, शाब्दिक और आलंकारिक दोनों ही अर्थों में; हम यहां स्वदेश में लाखों अमेरिकियों के लिए अच्छी नौकरियां पैदा करेंगे; और भविष्य के लिए विकास की मज़बूत नींव रखेंगे। और यह आपका भी लक्ष्य हो सकता है। यह एक नैतिक अनिवार्यता, एक आर्थिक अनिवार्यता है। ये संकट का क्षण होने के साथ ही असाधारण संभावनाओं का भी क्षण है।

समय कम है, पर मुझे भरोसा है कि हम ये कर सकते हैं। और मुझे भरोसा है कि हम ऐसा करेंगे।

इस शिखर सम्मेलन में भागीदारी के लिए आपका धन्यवाद। अपने समुदायों के वास्ते प्रतिबद्धताएं तय करने के लिए आपका धन्यवाद। आप सभी पर ईश्वर की कृपा हो।

और मैं आज यहां और आगे प्रगति की आशा करता हूं। हमारे पास वास्तव में कोई और विकल्प नहीं है। हमें इस कार्य को पूरा करना होगा।

8:14 पूर्वाह्न ईडीटी


मूल स्रोत: https://www.whitehouse.gov/briefing-room/speeches-remarks/2021/04/22/remarks-by-president-biden-at-the-virtual-leaders-summit-on-climate-opening-session/ .

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future