व्हाइट हाउस
तत्काल जारी करने के लिए
फरवरी 4, 2021
जोसेफ़ आर. बाइडेन जूनियर, अमेरिका के राष्ट्रपति
संबोधन

अमेरिकी विदेश विभाग मुख्यालय
हैरी एस. ट्रुमैन बिल्डिंग
वाशिंगटन, डीसी

राष्ट्रपति:  विदेश मंत्री महोदय, आपके साथ यहां उपस्थित होकर अच्छा लग रहा है। और मैं काफ़ी वक़्त से इस अवसर का इंतज़ार कर रहा था कि आपको “मिस्टर सेक्रेटरी” संबोधित कर सकूं।

सभी को मेरा नमस्कार। एक बार फिर अमेरिका के प्रथम मुख्य राजनयिक बेंजामिन फ़्रैंकलिन की नज़रों के समक्ष विदेश विभाग में आना मेरे लिए सम्मान की बात है।

और, यहीं पर मैं प्रेस के लोगों को बताना चाहूंगा कि मैं पेन्न में राष्ट्रपतीय राजनीति का बेंजामिन फ़्रैंकलिन प्रोफ़ेसर था। और मुझे लगा मुझे उनके जितना बुज़ुर्ग होने के कारण ये पद दिया गया था, पर शायद ये बात नहीं थी।

मज़ाक को अलग रहने दें, तो यहां आना और नवीनतम शीर्ष राजनयिक, विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन के साथ यहां मौजूदा होना सुखद है। मिस्टर सेक्रेटरी, आज हमारा स्वागत करने के लिए आपका धन्यवाद। हमने 20 वर्षों से अधिक समय तक साथ काम किया है। आपकी कूटनीतिक कुशलता का आपके मित्र और दुनिया भर में हमारे प्रतिस्पर्धी, दोनों ही समान रूप से सम्मान करते हैं।

और वे जानते हैं कि आप जब बोलते हैं, तो हमारे लिए बोलते हैं। और इसलिए यह संदेश मैं दुनिया को सुनाना चाहूंगा: अमेरिका वापस आ गया है। अमेरिका लौट आया है। फिर से, कूटनीति हमारी विदेश नीति के केंद्र में आ गई है।

जैसा कि मैंने अपने प्रथम संबोधन में कहा था, हम अपने गठबंधनों को ठीक करेंगे और दुनिया से एक बार फिर जुड़ेंगे, अतीत की चुनौतियों से निपटने के लिए नहीं, बल्कि वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों के लिए। अमेरिकी नेतृत्व को बढ़ते अधिनायकवाद के इस नए दौर से निपटना होगा, जिसमें अमेरिका से प्रतिस्पर्धा करने की चीन की बढ़ती महत्वाकांक्षा तथा हमारे लोकतंत्र को नुक़सान पहुंचाने और बाधित करने का रूस का निश्चय शामिल हैं।

हमें बढ़ती वैश्विक चुनौतियों के इस दौर से निपटना होगा — महामारी से लेकर जलवायु परिवर्तन और परमाणु प्रसार तक। इन चुनौतियों से तभी निपटा जा सकेगा जब दुनिया के राष्ट्र एकजुट होकर और साझेदारी में काम करेंगे। हम अकेले ये काम नहीं कर सकते।

हमें अमेरिका के सबसे अहम लोकतांत्रिक मूल्यों पर आधारित कूटनीति शुरू करनी होगी, यानि: स्वतंत्रता की तरफ़दारी, अवसरों की हिमायत, सार्वभौमिक अधिकारों की रक्षा, क़ानून के शासन का सम्मान, और हर व्यक्ति के साथ गरिमापूर्ण व्यवहार।

यही हमारी वैश्विक नीति — हमारी वैश्विक शक्ति का आधार है। यही हमारी ताक़त का अक्षय स्रोत है। यह अमेरिका की स्थाई बढ़त है।

हालांकि हाल के वर्षों में इनमें से कई मूल्यों पर भारी दबाव रहा हैं, यहां तक कि पिछले कुछ हफ़्तों के दौरान बिल्कुल किनारे डाल दिया गया, लेकिन अमेरिकी लोग इस दौर से अधिक मज़बूत, अधिक दृढ़, और लोकतंत्र की रक्षा के वास्ते दुनिया को एकजुट करने के लिए अधिक तैयार होकर निकलेंगे, क्योंकि हम ख़ुद इसके लिए संघर्ष कर चुके हैं।

पिछले कुछ दिनों से, हम बर्मा में सैन्य तख्तापलट के मामले से निपटने के वास्ते अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक साथ लाने के लिए अपने सहयोगियों और भागीदारों के साथ घनिष्ठ सहयोग कर रहे हैं।

मैं बर्मा की स्थिति पर अपनी साझा चिंताओं पर चर्चा के लिए सीनेट में रिपब्लिकन नेता मैककोनेल के संपर्क में भी हूं, और हम अपने संकल्प को लेकर एकजुट हैं।

इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए: एक लोकतंत्र में, लोगों की इच्छा को नज़रअंदाज़ करने या एक विश्वसनीय चुनाव के परिणाम को बदलने का प्रयास कभी नहीं किया जाना चाहिए।

बर्मी सेना को हथियाए गए अधिकार छोड़ने चाहिए, हिरासत में लिए गए लोकतंत्र के हिमायतियों और कार्यकर्ताओं और अधिकारियों को रिहा करना चाहिए, दूरसंचार संबंधी पाबंदियां हटानी चाहिए और हिंसा से दूर रहना चाहिए।

जैसा कि मैंने इस सप्ताह के शुरू में कहा था, हम अपने साझेदारों के साथ लोकतंत्र की बहाली और क़ानून के शासन के समर्थन करने के लिए काम करेंगे, और इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों की जवाबदेही तय करेंगे।

पिछले दो हफ़्तों के दौरान, सहयोग की आदत बेहतर करने और लोकतांत्रिक गठबंधनों की ताक़त, जिसकी पिछले कुछ वर्षों में उपेक्षा हुई और दुरुपयोग तक हुआ, को पुनर्गठित करने के लिए मैंने अपने कई क़रीबी मित्र देशों — कनाडा, मैक्सिको, ब्रिटेन, जर्मनी, फ़्रांस, नैटो, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया — के नेताओं के साथ बात की है।

अमेरिका के गठबंधन हमारी सबसे अहम पूंजियों में से हैं। और कूटनीति के बल पर नेतृत्व का मतलब है फिर से अपने सहयोगियों और प्रमुख साझेदारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होना।

कूटनीति के बल पर नेतृत्व करने का मतलब अपने विरोधियों और प्रतिद्वंद्वियों से कूटनीतिक रूप से जुड़ना भी है, जब ऐसा करना हमारे हित में हो, और इससे अमेरिकी लोगों की सुरक्षा बढ़ती हो।

इसीलिए, कल अमेरिका और रूस परमाणु स्थिरता सुनिश्चित करने वाली हमारे देशों के बीच की एकमात्र संधि न्यू स्टार्ट को पांच साल के लिए बढ़ाने पर सहमत हुए।

लेकिन इसी के साथ, मैंने राष्ट्रपति पुतिन को अपने पूर्ववर्ती से बहुत अलग तरीके से स्पष्ट कर दिया कि रूस के आक्रामक कार्यों — हमारे चुनावों में हस्तक्षेप करना, साइबर हमले, अपने नागरिकों को जहर देना — को अमेरिका द्वारा सहन किए जाने के दिन ख़त्म हो चुके हैं। हम रूस के लिए उसके इन कृत्यों की लागत बढ़ाने और हमारे महत्वपूर्ण हितों और लोगों की रक्षा के लिए कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे। और हम रूस से निपटने में तब अधिक प्रभावी होंगे जब हम समान विचारधारा वाले अन्य सहयोगियों के साथ गठबंधन और समन्वय में काम करेंगे।

अलेक्सी नवाल्नी को जेल में डालने की राजनीति प्रेरित कार्रवाई तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और शांतिपूर्ण सभा के अधिकारों को दबाने के रूसी प्रयास हमारे और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए गहरी चिंता के विषय हैं।

अन्य रूसी नागरिकों की तरह श्री नवाल्नी  भी रूसी संविधान के तहत अपने अधिकारों के हक़दार हैं। भ्रष्टाचार उजागर करने के लिए उन्हें निशाना बनाया गया है। उन्हें तुरंत और बिना शर्त रिहा किया जाना चाहिए।

और हम अपने सबसे गंभीर प्रतियोगी, चीन द्वारा हमारी समृद्धि, सुरक्षा और लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए उत्पन्न चुनौतियों का भी सीधे सामना करेंगे।

हम चीन के आर्थिक दुर्व्यवहारों को चुनौती देंगे; उसकी आक्रामक, धौंस जमाने वाली कार्रवाइयों का मुक़ाबला करेंगे; मानवाधिकारों, बौद्धिक संपदा और वैश्विक व्यवस्था पर चीन के हमलों के खिलाफ़ क़दम उठाएंगे।

लेकिन हम बीजिंग के साथ काम करने के लिए तैयार हैं, बशर्ते ऐसा करना अमेरिका के हित में हो। हम स्वदेश में बेहतर पुनर्निर्माण करके, अपने सहयोगी देशों और साझेदारों के साथ काम करके, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में अपनी भूमिका को नवीनीकृत करके तथा अपनी विश्वसनीयता और काफ़ी गंवाए जा चुके अपने नैतिक अधिकार को पुनः प्राप्त करके ताक़त वाली हैसियत में रहकर प्रतिस्पर्धा करेंगे।

इसीलिए हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमेरिकी भागीदारी को पुनर्स्थापित करने और साझा चुनौतियों पर वैश्विक कार्रवाई को उत्प्रेरित करने के लिए अपनी नेतृत्वकारी भूमिका वापस पाने की दिशा में तेज़ी से आगे बढ़े हैं।

पहले ही दिन, मैंने पेरिस जलवायु समझौते में फिर से शामिल होने के लिए कागज़ातों पर हस्ताक्षर कर दिए। हम अपनी कूटनीति के हर स्तर पर जलवायु संबंधी उद्देश्यों को एकीकृत कर और अपने जलवायु लक्ष्यों को अधिक महत्वाकांक्षी बनाते हुए आवश्यक क़दम उठा रहे हैं। इस तरह, हम अन्य राष्ट्रों, अन्य प्रमुख उत्सर्जकों को उनकी ख़ुद की प्रतिबद्धताओं को बढ़ाने की चुनौती दे सकते हैं। मैं इस वर्ष पृथ्वी दिवस पर जलवायु संकट से निपटने के लिए जलवायु से जुड़े अग्रणी नेताओं की बैठक — जलवायु नेताओं के शिखर सम्मेलन — की मेज़बानी करूंगा।

अमेरिका को इस अस्तित्वगत ख़तरे के विरुद्ध नेतृत्व करना होगा। और महामारी के मामले की ही तरह, इस क्षेत्र में वैश्विक सहयोग की आवश्यकता है।

हम विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ भी वापस जुड़ गए हैं। इस तरह, हम कोविड-19 के मुक़ाबले के लिए बेहतर वैश्विक प्रयास कर सकते हैं, साथ ही भविष्य की महामारियों का पता लगा सकते हैं और उन्हें रोक सकते हैं, क्योंकि और महामारियां आएंगी।

हमने अपनी सरकार के भीतर साइबर मुद्दों की प्राथमिकता को बढ़ाया है, जिसके तहत साइबर और उभरती प्रौद्योगिकी मामलों के पहले उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की नियुक्ति का क़दम शामिल है। हम साइबर स्पेस में अपनी क्षमता, तत्परता और दृढ़ता बढ़ाने के लिए तत्काल एक पहल शुरू कर रहे हैं।

आज, मैं अपनी विदेश नीति को सही दिशा देने और अपने राजनयिक नेतृत्व के साथ अपने लोकतांत्रिक मूल्यों के बेहतर संयोजन के लिए अतिरिक्त क़दमों की घोषणा कर रहा हूं।

सबसे पहले, रक्षा मंत्री ऑस्टिन हमारी सेना की वैश्विक तैनाती समीक्षा करेंगे ताकि हमारी सैन्य उपस्थिति का हमारी विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा प्राथमिकताओं के साथ उचित समन्वय हो। इसे हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के सारे पहलुओं में समन्वित किया जाएगा, तथा रक्षा मंत्री ऑस्टिन और विदेश मंत्री ब्लिंकन परस्पर निकट सहयोग करेंगे।

और जब तक यह समीक्षा चल रही है, हम जर्मनी से सैनिकों को वापस लाने की किसी भी निर्धारित योजना पर अमल नहीं करेंगे। हम यमन में युद्ध समाप्त कराने के लिए भी अपनी कूटनीति को तेज़ कर रहे हैं — एक ऐसा युद्ध जिसने मानवीय और सामरिक तबाही मचाई है। मैंने अपनी मध्य-पूर्व टीम से संयुक्तराष्ट्र की अगुवाई वाली युद्धविराम की पहल के लिए हमारा समर्थन सुनिश्चित करने, मानवीय सहायता हेतु रास्तों को खोलने और लंबे समय से रुकी पड़ी शांति वार्ता बहाल करने के लिए कहा है।

आज सुबह, विदेश मंत्री ब्लिंकन ने पेशेवर विदेश नीति अधिकारी टिम लेंडरकिंग को यमन संघर्ष के लिए अपना विशेष दूत नियुक्त किया। और मैं ऐसा करने के लिए उनकी सराहना करता हूं। टिम ने इस क्षेत्र में अपनी ज़िंदगी बिताई है, और वह एक कूटनीतिक समाधान के लिए संयुक्तराष्ट्र के दूत और संघर्ष के सभी पक्षों के साथ काम करेंगे।

और टिम की कूटनीति को यूएसएड का सहारा मिलेगा, यह सुनिश्चित करने के लिए कि उन यमनी लोगों तक मानवीय सहायता पहुंचे जिन्हें इस युद्ध के कारण असहनीय तबाही झेलनी पड़ रही है। ये युद्ध समाप्त होना चाहिए।

और, अपनी प्रतिबद्धता पर ज़ोर देने के लिए, हम यमन के युद्ध में आक्रामक अभियानों को अमेरिकी समर्थन समाप्त कर रहे हैं, जिसमें संबंधित हथियारों की बिक्री भी शामिल है।

साथ ही, सऊदी अरब को विभिन्न देशों में ईरान समर्थित बलों से मिसाइल हमलों, यूएवी हमलों और अन्य ख़तरों का सामना करना पड़ रहा है। हम सऊदी अरब को उसकी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता और उसके लोगों की रक्षा के लिए समर्थन और सहायता देना जारी रखेंगे।

हम दुनिया भर में परेशानी झेल रहे 80 मिलियन से अधिक विस्थापित लोगों के संकट का भी सामना कर रहे हैं। शरणार्थियों के मुद्दों पर अमेरिका के नैतिक नेतृत्व को लेकर इतने दशकों से, जब मैं पहली बार यहां आया था, द्विदलीय सहमति थी। हमने शोषित लोगों को स्वतंत्रता की रोशनी दी। हमने हिंसा या उत्पीड़न से बच कर भागने वालों के लिए सुरक्षित पनाहगाह की पेशकश की। और हमारे उदाहरण ने अन्य देशों को भी अपने दरवाज़े खोलने के लिए प्रेरित किया।

इसलिए, आज मैं एक कार्यकारी आदेश को मंज़ूरी दे रहा हूं ताकि अभूतपूर्व वैश्विक ज़रूरतों को पूरा करने में मदद के लिए हमारे शरणार्थी प्रवेश कार्यक्रमों को बहाल करने का कठिन प्रयास शुरू हो सके। ये चीज़ इतनी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है, कि इसे दोबारा खड़ा करने में समय लगेगा, लेकिन वास्तव में हम यही करने जा रहे हैं।

यह कार्यकारी आदेश हमें बाइडेन-हैरिस प्रशासन के पहले पूर्ण वित्तीय वर्ष के दौरान वापस 125,000 तक शरणार्थियों के प्रवेश की दिशा में सक्षम बनाएगा। और मैं विदेश विभाग को निर्देश दे रहा हूं कि इस प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए जितनी जल्दी संभव हो सके, धन के आवंटन के लिए कांग्रेस के साथ परामर्श करे।

और हमारे नैतिक नेतृत्व को और दुरुस्त करने के लिए, एलजीबीटीक़्यूआई मुद्दों पर हमारे नेतृत्व को फिर से मज़बूत करने और ऐसा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर करने के लिए एजेंसियों को राष्ट्रपतीय निर्देश जारी कर रहा हूं। आप जानते हैं, हम सुनिश्चित करेंगे कि कूटनीति और विदेशी सहायता उन व्यक्तियों के अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए काम करे, साथ ही अपराधीकरण को कम किया जाएगा और एलजीबीटीक्यू शरणार्थियों और शरण मांगने वालों को सुरक्षा दी जाएगी।

और अंत में, हमारी कूटनीति को सफलतापूर्वक पुन: प्रभावकारी बनाने के लिए और अमेरिकियों को सुरक्षित, समृद्ध और मुक्त रखने के लिए, हमें अपने विदेश नीति संस्थानों की सेहत और मनोबल को बहाल करना होगा।

मैं इस इमारत, हमारे दूतावासों और दुनिया भर के वाणिज्य दूतावासों में काम करने वालों को बताना चाहता हूं: मैं आपकी विशेषज्ञता को महत्व देता हूं और मैं आपका सम्मान करता हूं, और मैं आपका साथ दूंगा। यह प्रशासन आपको अपना काम करने के लिए सशक्त बनाने जा रहा है, आपको निशाना बनाने या राजनीतिकरण करने का काम नहीं करेगा। हम एक ज़ोरदार बहस चाहते हैं जो सभी दृष्टिकोणों को सामने लाए और असंतोष के लिए जगह बनाए। तभी हम सर्वोत्तम नीतिगत परिणाम प्राप्त कर पाएंगे।

इस तरह आपके सहयोग के बल पर, अमेरिका न केवल अपनी शक्ति के उदाहरण से बल्कि अपने उदाहरण की शक्ति से दोबारा नेतृत्व करेगा।

इसीलिए मेरे प्रशासन ने पहले ही देश में हमारे घरेलू मूल्यों — हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों को अपनाने के लिए महत्वपूर्ण क़दम उठाया है।

पदभार ग्रहण करने के कुछ घंटों के भीतर, मैंने घृणित, भेदभावपूर्ण मुस्लिम प्रतिबंध को पलटते हुए एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए; हमारी सेना में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों की सेवा पर प्रतिबंध को पलट दिया।

और सत्य, पारदर्शिता और जवाबदेही के प्रति हमारी प्रतिबद्धता के तहत हमने पहले दिन से ही व्हाइट हाउस में दैनिक प्रेस ब्रीफ़िंग की शुरुआत की। हमने यहां विदेश विभाग और पेंटागन में भी नियमित ब्रीफ़िंग बहाल कर दी है। हमारा मानना है कि एक स्वतंत्र प्रेस, विरोधी नहीं है; बल्कि, आवश्यक है। लोकतंत्र को सुदृढ रखने के लिए स्वतंत्र प्रेस आवश्यक है।

हमने विज्ञान के प्रति, तथा तथ्यों और सबूतों के आधार पर नीतियां बनाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को बहाल किया है। मैं समझता हूं बेन फ्रैंकलिन इसको सही मानेंगे।

हमने व्यवस्थित नस्लवाद और हमारे देश में श्वेत वर्चस्व के संकट को स्वीकार करने और उसको दूर करने के लिए क़दम उठाए हैं। नस्ली निष्पक्षता हमारे प्रशासन में केवल एक विभाग विशेष का मुद्दा नहीं होगी, बल्कि यह हमारी संपूर्ण सरकार के लिए प्राथमिकता होगी, तमाम संघीय नीतियों और संस्थानों में।

यह सब विदेश नीति के लिए मायने रखता है, क्योंकि हम कार्यकाल के शुरू में ही दुनिया भर के राष्ट्रों को विश्व स्तर पर लोकतंत्र की रक्षा के लिए एकजुट करने, अधिनायकवादियों को पीछे धकेलने के लिए लोकतंत्र के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे, तो अपनी नींव को मज़बूत करने वाले इन कदमों की वजह से हम और अधिक विश्वसनीय साझेदार हो सकेंगे।

विदेश और घरेलू नीतियों के बीच अब बडा भेद नहीं है। विदेश में हमारे द्वारा जो क़दम उठाए जाते हैं, वे अमेरिकी कामकाज़ी परिवारों को ध्यान में रखकर उठाए जाने चाहिए। मध्यम वर्ग के अनुकूल विदेश नीति को आगे बढ़ाया जा सके, इसके लिए हमारी घरेलू आर्थिक नवीनीकरण पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है।

और इसीलिए मैंने तुरंत इस आर्थिक संकट से हमें निकालने के लिए अमेरिकन रेस्क्यू प्लान को सामने रखा है। इसलिए मैंने पिछले सप्ताह स्वदेशी वस्तुओं की ख़रीद की नीति को मज़बूत करने वाले एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए। और इसीलिए मैं कांग्रेस के साथ परिवर्तनकारी प्रौद्योगिकियों के अनुसंधान और विकास में दूरगामी निवेश के ऊपर काम करूँगा।

ये निवेश नौकरियों का सृजन करने वाले हैं, विश्व स्तर पर अमेरिका की प्रतिस्पर्धी बढ़त को बनाए रखने वाले हैं, और फ़ायदों में सभी अमेरिकियों की हिस्सेदारी सुनिश्चित करते हैं।

यदि हम अपने लिए और अपने लोगों के लिए निवेश करें, अगर हम यह सुनिश्चित करने के लिए संघर्ष करें कि अमेरिकी व्यापार वैश्विक मंच पर प्रतिस्पर्धा करने और जीतने के लिए तैयार हैं, यदि अंतरराष्ट्रीय व्यापार के नियम हमारे विरुद्ध नहीं हैं, यदि हमारे कार्यकर्ता और बौद्धिक संपदा सुरक्षित हैं, तो पृथ्वी पर कोई देश नहीं है — न ही चीन और न ही पृथ्वी पर कोई अन्य देश — जो हमारा मुक़ाबला कर सके।

हमारा कूटनीति में निवेश करना, कुछ ऐसा नहीं है कि जिसे हम सिर्फ इसलिए करते हैं क्योंकि यह दुनिया के लिए सही काम है। हम यह शांति, सुरक्षा और समृद्धि के साथ जीने के लिए करते हैं। हम इसलिए करते हैं क्योंकि यह पूर्णत: हमारे स्वहित में है। जब हम अपने गठबंधनों को मज़बूत करते हैं, तो हम अपनी शक्ति के साथ-साथ हमारी ओर बढ रहे ख़तरों को दूर ही रोक देने की अपनी क्षमता को बढ़ाते हैं।

जब हम देशों के आर्थिक विकास में निवेश करते हैं, तो हम अपने उत्पादों के लिए नए बाज़ार बनाते हैं और अस्थिरता, हिंसा और बड़े पैमाने पर पलायन की आशंकाओं को कम करते हैं।

जब हम दुनिया के सुदूर क्षेत्रों में स्वास्थ्य प्रणालियों को मज़बूत करते हैं, तो हम भविष्य की महामारियों के जोख़िम को कम करते हैं जो हमारे लोगों और हमारी अर्थव्यवस्था के लिए ख़तरा पैदा कर सकते हैं।

जब हम दुनिया भर में लोगों के समान अधिकारों की रक्षा करते हैं — महिलाओं और लड़कियों, एलजीबीटीक़्यू व्यक्तियों, मूल निवासी समुदायों और विकलांग लोगों, हर जातीय पृष्ठभूमि और धर्म के लोगों के अधिकारों की — तो हम ये भी सुनिश्चित करते हैं कि वे अधिकार हमारे अपने बच्चों के लिए भी सुरक्षित हों, यहां अमेरिका में।

अमेरिका विश्व मंच से अनुपस्थित रहने का जोख़िम अब और नहीं उठा सकता। मैं आज विदेश मंत्रालय आया हूं, ये एक एजेंसी है जोकि हमारे देश जितनी ही प्राचीन तथा उतनी ही उपलब्धियों वाली है, क्योंकि कूटनीति हमेशा अमेरिका के स्वयं अपना भाग्य लिखने के लिए ज़रूरी रही है।

बेन फ्रैंकलिन की कूटनीति ने ही हमारी क्रांति की सफलता सुनिश्चित करने में मदद की। मार्शल योजना की संकल्पना ने दुनिया को युद्ध के मलबे पर गिरने से रोकने में मदद की। और इलेनोर रूज़वेल्ट के जुनून ने सार्वभौमिक अधिकारों का साहसिक विचार प्रस्तुत किया, जोकि हम सभी के अधिकार हैं।

हर तरह के राजनयिकों के नेतृत्व ने, जुड़ाव के दैनिक कार्य को करते हुए, एक मुक्त और परस्पर संबद्ध दुनिया के विचार को जन्म दिया। हमारा ऐसा देश है जोकि बड़े काम करता है। अमेरिकी कूटनीति इसे संभव बनाती है। और हमारा प्रशासन एक बार फिर से इस ज़िम्मेदारी को स्वीकार करने और नेतृत्व करने के लिए तैयार है।

आप सभी को धन्यवाद। और भगवान आपको आशीष दें तथा हमारे सैनिकों, हमारे राजनयिकों, हमारे विकास विशेषज्ञों और ख़तरे उठाकर सेवा करने वाले सभी अमेरिकियों की रक्षा करें।

आप सभी का धन्यवाद।

समाप्त।


मूल स्रोत: https://www.whitehouse.gov/briefing-room/speeches-remarks/2021/02/04/remarks-by-president-biden-on-americas-place-in-the-world/ 

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future