व्हाइट हाउस
सितंबर 22, 2021

हम वैश्विक कोविड-19 शिखर सम्मेलन के सभी प्रतिभागियों को वैश्विक लक्ष्यों के अनुरूप एकजुट होने तथा कोविड-19 महामारी की समाप्ति और बेहतर पुनर्निर्माण हेतु आवश्यक क़दम उठाने के लिए हमसे जुड़ने के लिए आमंत्रित करते हैं। सरकारों, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों और निजी क्षेत्र के ये वैश्विक लक्ष्य और संबंधित पहलक़दमियां कोविड-19 पर मल्टीलैटरल लीडर्स टास्कफ़ोर्स, एक्सेस टू कोविड-19 टूल्स (एसीटी) एक्सेलरेटर, जी20, जी7, और विभिन्न विशेषज्ञ आयोगों के सदस्यों द्वारा निर्धारित लक्ष्यों पर आधारित हैं।

ये लक्ष्य और संबंधित कार्रवाइयां महत्वाकांक्षी हैं – लेकिन इस महामारी को ख़त्म करने के लिए और इसके साथ ही हमारे देशों, समुदायों, स्वास्थ्य और आजीविका पर बने ख़तरों को समाप्त करने के लिए हमें उन्हें हासिल करने की आवश्यकता है। हमें दुनिया के टीकाकरण, जीवन की रक्षा और बेहतर पुनर्निर्माण के लिए तुरंत क़दम उठाने होंगे। एक साझा दृष्टिकोण के साथ मिलकर काम करके ही हम कोविड-19 महामारी को हरा सकते हैं और दुनिया को भविष्य की महामारियों से निपटने के लिए तैयार कर सकते हैं।

हम सभी प्रतिभागियों को हमारी सामूहिक प्रगति पर नज़र रखने के लिए भी आमंत्रित करते हैं। हममें से प्रत्येक क्या कर रहा है, इसकी जानकारी जुटाकर हम अपनी प्रगति को माप सकते हैं और पीछे छूटने की आशंका से बचने के लिए ज़रूरी क़दम उठा सकते हैं।

लक्ष्य: दुनिया का टीकाकरण

  • पूरे विश्व में टीकाकरण: यूएनजीए 2022 तक, हर देश और आय वर्ग में आबादी के कम से कम 70 प्रतिशत का गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी टीकों से टीकाकरण के डब्ल्यूएचओ के लक्ष्य का समर्थन करना।
  • ख़ुराकों का त्वरित वितरण: जी20 के इस लक्ष्य का अनुमोदन करना – “विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के लक्ष्यों के अनुरूप, हम 2021 के अंत तक वैश्विक आबादी के कम से कम 40 प्रतिशत के टीकाकरण के लक्ष्य का समर्थन करते हैं।”
  • मध्यम और दीर्घावधि के लिए टीकों का उत्पादन: 2022 में सभी देशों के लिए टीकों की अतिरिक्त ख़ुराक और पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना। जैसे-जैसे वैज्ञानिक प्रमाण सामने आते हैं, एलआईसी/एलएमआईसी देशों में भविष्य की बूस्टर ज़रूरतों के लिए अतिरिक्त ख़ुराक के उत्पादन हेतु पर्याप्त फ़ंडिंग उपलब्ध कराना।

संबंधित क्षमताओं वाली सरकारों और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से अपेक्षाएं: 2021 के आखिरी महीने 

  • वित्तीय सहायता प्रदान करके तथा गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीकों की 1 बिलियन अतिरिक्त ख़ुराकों की खरीद करके या दान करके – जिसमें वैश्विक समतापूर्ण वितरण हेतु कोवैक्स का उपयोग शामिल है – निम्न आय वाले देशों (एलआईसी)/निम्न मध्यम आय वाले देशों (एलएमआईसी) में फ़ंडिंग और आपूर्ति के बीच की खाई को ख़त्म करना, ताकि 70 प्रतिशत टीकाकरण कवरेज प्राप्त किया जा सके।
  • गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 टीकों की लगभग 2 बिलियन ख़ुराकों की डिलीवरी, जिसका पहले ही वायदा किया जा चुका है, में तेज़ी लाकर 2021 में एलआईसी/एलएमआईसी में टीकाकरण के काम को तेज़ करना। इसके लिए मौजूदा डोज़ शेयरिंग प्रतिबद्धताओं को निकट अवधि की डिलीवरी में बदलना, एलआईसी/एलएमआईसी के लिए ख़ुराकों की शीघ्र डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए तारीखों की अदला-बदली करना तथा टीकों और उनके महत्वपूर्ण अवयवों की आपूर्ति में आने वाली अंतरराष्ट्रीय बाधाओं को दूर करना शामिल हैं।
  • टीकाकरण की तैयारी और प्रभावी कार्यान्वयन के लिए एलआईसी/एलएमआईसी देशों की फ़ंडिंग के लिए 2021 में कम से कम 3 बिलियन डॉलर और 2022 में 7 बिलियन डॉलर उपलब्ध कराके आबादी का टीकाकरण सुनिश्चित करना। इसमें टीकाकरण हेतु आवश्यक स्वास्थ्य कार्यबल का समर्थन, टीके के प्रति झिझक का मुक़ाबला, क़ानूनी और संविदा संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति और आनुषंगिक सामग्रियों की खरीद शामिल हैं।
  • पर्याप्त वैश्विक और क्षेत्रीय उत्पादन के साथ-साथ संभावित बूस्टर ज़रूरतों और भविष्य के लिए टीके के उत्पादन की फ़ंडिंग के ज़रिए मध्यम और दीर्घावधि के लिए टीके उपलब्ध कराना; एमआरएनए, वायरल वेक्टर और प्रोटीन सबयूनिट टीकों के उत्पादन (यदि अधिकृत हो) का विस्तार और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण; तथा डब्ल्यूएचओ द्वारा बूस्टर ख़ुराक की सिफारिश किए जाने पर एलआईसी/एलएमआईसी देशों के लिए गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी टीकों की 3 बिलियन अतिरिक्त ख़ुराकों की खरीद करना।
  • इस लक्ष्य की दिशा में मौजूदा प्रयासों को ध्यान में रखते हुए, 2021 में टीकों, त्वरित उपयोग वाली सामग्रियों और आनुषंगिक सामग्रियों से संबंधित एक सुदृढ़ वैश्विक डैशबोर्ड स्थापित कर जवाबदेही और समन्वय बढ़ाना।

निजी क्षेत्र की प्रस्तावित प्रतिबद्धताएं: 2021 के आखिरी महीने 

  • टीकाकरण की तैयारी और टीकों की डिलीवरी के लिए कोविड-19 कोर स्थापित करना।
  • टीकों के वास्तविक और अनुमानित उत्पादन की मात्रा के बारे में पारदर्शिता बढ़ाना; एलआईसी/एलएमआईसी देशों हेतु डिलीवरी को प्राथमिकता देने के लिए वैक्सीन डैशबोर्ड हेतु उत्पादन अनुमानों और वितरण अनुक्रमण संबंधी डेटा उपलब्ध कराना।
  • विकास और फ़ंडिंग की योजना बनाकर एमआरएनए, वायरल वेक्टर, और/या प्रोटीन सबयूनिट कोविड-19 टीकों के लिए वैश्विक और क्षेत्रीय विनिर्माण क्षमता का विस्तार करना।

लक्ष्य: तत्काल जीवन रक्षा 

  • निकट भविष्य में और 2022 से पहले सभी देशों में अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन की आसान उपलब्धता सुनिश्चित कर ऑक्सीजन संकट का समाधान करना।
  • सभी देशों में 2021 के अंत तक रोज़ाना प्रति 1,000 लोगों पर एक टेस्टिंग दर हासिल करके टेस्टिंग में होने वाली देरी को समाप्त करना।
  • 2021 में सभी एलआईसी/एलएमआईसी देशों को अधिकृत गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी दवाइयां तथा 2022 में प्रभावी नए नॉन-आईवी उपचार उपलब्ध कराते हुए सभी देशों के लिए इन्हें समय रहते सुलभ कराना।
  • 2021 में सभी एलआईसी/एलएमआईसी देशों में स्वास्थ्यकर्मियों को पीपीई सुलभ कराने और 2022 में हर क्षेत्र के लिए अतिरिक्त उत्पादन क्षमता उपलब्ध कराने के लिए अतिरिक्त पीपीई निर्माण क्षमता तैयार करना और मौजूदा स्टॉक संबंधी समन्वय बढ़ाना।
  • 2021 और 2022 में वैश्विक स्तर पर जीनोम सिक्वेंसिंग और डेटा साझाकरण प्रयासों को बढ़ाकर कोविड-19 के नए वेरिएंट की पहचान, निगरानी और उनका असर घटाने की क्षमता में सुधार करना।

संबंधित क्षमताओं वाली सरकारों और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से अपेक्षाएं: 2021 के आखिरी महीने

  • 2022 तक एलआईसी/एलएमआईसी देशों में थोक तरल ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने सहित ऑक्सीजन आपूर्ति तंत्र के लिए समन्वित सहायता के रूप में 2 बिलियन डॉलर प्रदान करना।
  • एलआईसी/एलएमआईसी देशों के लिए 2022 तक कम से कम 1 बिलियन गुणवत्तापूर्ण, सुरक्षित और प्रभावी परीक्षण किटों की फ़ंडिंग करना।
  • 2022 तक एलआईसी/एलएमआईसी देशों के लिए अधिकृत कोविड-19 दवाइयों की पर्याप्त ख़ुराकों के लिए 1 बिलियन डॉलर और 2022 में 2 बिलियन डॉलर का दान और वितरण, तथा समतापूर्ण चिकित्सीय खरीद और वितरण के लिए एक तंत्र की स्थापना करना।
  • 2022 में अतिरिक्त पीपीई निर्माण क्षमता की स्थापना और हर क्षेत्र में वितरण व्यवस्था को मज़बूत करना।
  • विस्तारित वैश्विक क्षमताओं के लिए संसाधन प्रदान करके और वैश्विक महामारी रडार की अवधारणा का समर्थन करते हुए दुनिया भर में वैरिएंट की ट्रैकिंग और विश्लेषण क्षमताओं के विस्तार संबंधी जी7/एस7 की कार्बिस बे घोषणा का अनुमोदन करना।

 निजी क्षेत्र की प्रस्तावित प्रतिबद्धताएं: 2021 के आखिरी महीने 

  • 2022 के अंत तक सभी देशों में थोक तरल ऑक्सीजन की उपलब्धता और अस्पतालों के लिए अन्य सहायता सहित ऑक्सीजन आपूर्ति तंत्रों में सहयोग के लिए देशों और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के सहयोग से 2 बिलियन डॉलर की वैश्विक रणनीति का निर्माण और फ़ंडिंग करना।
  • टेस्टिंग किटों का उत्पादन बढ़ाकर, एलआईसी/एलएमआईसी देशों में अधिकतम 1 डॉलर में एंटीजन टेस्टिंग किट उपलब्ध कराना।
  • उत्पादन का विस्तार करना और 12 मिलियन गंभीर और अतिगंभीर रोगियों के लिए अधिकृत उपचार उपलब्ध कराना।
  • कम संसाधनों वाले इलाक़ों के लिए अगली पीढ़ी की कोविड -19 दवाइयों (आदर्शत: मुंह के ज़रिए दी जाने वाली) के लिए नैदानिक परीक्षणों और स्वैच्छिक प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सहित उन्नत खोजों की फ़ंडिंग करना।
  • वैश्विक स्तर पर वेरिएंट ट्रैकिंग के लिए परिवर्तनकारी क्षमताओं के निर्माण और समन्वय हेतु समर्पित निजी क्षेत्र और सिविल सोसायटी सहित वैश्विक हितधारकों को एकजुट करने के लिए प्रतिबद्धता जताना।

लक्ष्य: बेहतर पुनर्निर्माण

  • 2021 में वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा वित्तीय मध्यस्थ कोष (एफ़आईएफ़) की स्थापना और वित्तपोषण के ज़रिए स्थाई स्वास्थ्य सुरक्षा वित्तपोषण व्यवस्था तैयार करना।
  • 2021 में वैश्विक स्वास्थ्य जोखिम परिषद (जीएचटीसी) जैसी शीर्ष नेता के स्तर के उपक्रम की स्थापना सहित जैविक संकटों के लिए राजनीतिक नेतृत्व और जागरुकता का समर्थन करना।
  • वैश्विक मंत्रिस्तरीय स्वास्थ्य एवं वित्त बोर्ड के लिए जी20 अध्यक्ष देश के कॉल-टू-एक्शन का समर्थन करना।

संबंधित क्षमताओं वाली सरकारों और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से अपेक्षाएं: 2021 के आखिरी महीने

  • वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा एफ़आईएफ़ की स्थापना हेतु कम से कम 30 देशों और कम से कम 10 संगठनों हस्ताक्षर सुनिश्चित करना, जिसमें स्कोप, सीड फंडिंग स्तर (जैसे 10 बिलियन डॉलर) और होस्ट (जैसे विश्व बैंक) संबंधी साझा दृष्टिकोण शामिल हैं।
  • 2021 में तत्काल तैयारी संबंधित जरूरतों के लिए एफ़आईएफ़ की फ़ंडिंग के लिए संकल्पों की घोषणा करना, जिसमें आधिकारिक विकास सहायता के बाहर के स्रोतों समेत मध्यम अवधि के लिए पर्याप्त फ़ंडिंग हेतु विशिष्ट प्रस्ताव शामिल हैं।
  • सभी क्षेत्रों में पीपीई, टेस्टिंग किट, दवाइयों और टीकों के लिए अतिरिक्त उत्पादन क्षमता और मज़बूत सप्लाई चेन के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त करना।
  • अध्यक्ष और सहअध्यक्ष के चयन सहित 2021 में जीएचटीसी जैसी शीर्ष नेता स्तर की इकाई स्थापित करने की दिशा में काम करना।

निजी क्षेत्र की प्रस्तावित प्रतिबद्धताएं: 2021 के आखिरी महीने

  • व्यक्तियों या संगठनों का एफ़आईएफ़ में योगदान की प्रतिबद्धता व्यक्त करना और एक “चैलेंज” शुरू करना जो वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा क्षमता को सतत समर्थन के लिए ग़ैरसरकारी क्षेत्र को एकजुट करती हो।
  • व्यक्तियों या संगठनों का लोगों और परोपकारी संस्थाओं को खुद का निवेश कोष स्थापित करने के लिए एकजुट करना जोकि एफ़आईएफ़ में योगदान करता हो।
  • व्यक्तियों या संगठनों का सरकारों से राजनीतिक स्तर पर जीएचटीसी स्थापित करने का आह्वान करना, जिसमें सिविल सोसायटी, निजी क्षेत्र, और/या विशेषज्ञों के लिए स्थान शामिल हों।

मूल स्रोत: https://www.whitehouse.gov/briefing-room/statements-releases/2021/09/22/fact-sheet-targets-for-global-covid-19-summit/

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future