व्हाइट हाउस
जून 24, 2021

हाल ही में ब्रिटेन के कॉर्नवाल में आयोजित जी7 शिखर सम्मेलन में, दुनिया के प्रमुख लोकतंत्रों ने जबरन श्रम, जिसमें शिनजियांग भी शामिल है, के खिलाफ एकजुटता दिखाई थी और ये सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की थी कि वैश्विक सप्लाई चेन जबरन श्रम के उपयोग से मुक्त हों। अमेरिका इन प्रतिबद्धताओं को कार्रवाई में बदल रहा है। बाइडेन-हैरिस प्रशासन जबरन श्रम में संलग्न लोगों को जवाबदेह ठहराने और ये सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त कार्रवाई कर रहा है कि हम होमलैंड सिक्योरिटी विभाग की अमेरिकी सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा एजेंसी, वाणिज्य विभाग और श्रम विभाग की कार्रवाइयों के सहारे अपनी सप्लाई चेन से जबरन श्रम निर्मित सामग्रियों को हटाना जारी रखें।

ये कार्रवाइयां क्रूर और अमानवीय जबरन श्रम प्रथाओं में शामिल होने के बदले चीन जनवादी गणराज्य (पीआरसी) पर अतिरिक्त लागत थोपन और ये सुनिश्चित करने की हमारी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करती हैं कि बीजिंग नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के अंग के रूप में निष्पक्ष व्यापार के नियमों का पालन करे। अमेरिका शिनजियांग में सरकार प्रायोजित जबरन श्रम को मानवीय गरिमा का अपमान और पीआरसी की अनुचित आर्थिक प्रथाओं का उदाहरण मानता है। शिनजियांग में पीआरसी द्वारा कराया जा रहा जबरन श्रम उइगर समुदाय तथा अन्य जातीय और धार्मिक अल्पसंख्यक समूहों के खिलाफ़ व्यवस्थित अत्याचारों का एक अनिवार्य घटक है, और इन अत्याचारों के खिलाफ़ कार्रवाई करना बाइडेन-हैरिस प्रशासन के लिए एक उच्च प्राथमिकता रहेगी। व्यवस्थित अत्याचारों में जबरन श्रम के अलावा यौन हिंसा और बड़े पैमाने पर लोगों को जबरन हिरासत में लेने के कृत्य शामिल हैं, और पीआरसी शिनजियांग में जनसंहार और मानवता के खिलाफ अपराध करना जारी रखे हुए है।

पीआरसी की जबरन श्रम प्रथाएं एक राष्ट्र के रूप में हमारे मूल्यों के विपरीत हैं, और ये अमेरिकी उपभोक्ताओं को अनैतिक प्रथाओं से जोड़ती हैं। पीआरसी इनके तहत श्रमिकों का शोषण करके और लागत को कृत्रिम रूप से कम रखकर अपनी कंपनियों के लिए प्रतिस्पर्धियों पर बढ़त को संभव बनाता है, जिससे अमेरिकी व्यवसायों और श्रमिकों को प्रतिकूल माहौल में प्रतियोगिता करनी होती है। अमेरिका अपनी सप्लाई चेन में जबरन श्रम को बर्दाश्त नहीं करेगा और हम अपने मूल्यों और अमेरिकी श्रमिकों एवं व्यवसायों के हित में क़दम उठाना जारी रखेंगे। इसमें स्वदेश में जबरन श्रम से मुक्त पारदर्शी और विविध स्वच्छ ऊर्जा सप्लाई चेन के विकास हेतु समर्थन जारी रखना — और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ़ साहसिक कार्रवाई करने की राष्ट्रपति बाइडेन की प्रतिबद्धता, घरेलू सौर उद्योग और इस अहम उद्योग द्वारा सृजित नौकरियों का समर्थन करना शामिल हैं।

अमेरिकी सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा (सीबीपी) एजेंसी ने विदहोल्ड रिलीज़ ऑर्डर (डब्ल्यूआरओ) जारी किया: सीबीपी ने शिनजियांग स्थित उपक्रम होशाइन सिलिकॉन इंडस्ट्री कंपनी लिमिटेड और उसकी सहायक कंपनियों द्वारा निर्मित सिलिका-आधारित उत्पादों के खिलाफ़ डब्ल्यूआरओ जारी किया है। यह डब्ल्यूआरओ इस बात का पर्याप्त संकेत देने वाली जानकारी पर आधारित है कि होशाइन ने सिलिका-आधारित उत्पादों के निर्माण के लिए जबरन श्रम का उपयोग किया है। परिणामस्वरूप सभी अमेरिकी प्रवेश पत्तनों पर अधिकारियों को तुरंत इन सामग्रियों को कब्ज़े में लेने के निर्देश दिए गए हैं, जिनमें होशाइन निर्मित सिलिका-आधारित उत्पाद या उन सिलिका-आधारित उत्पादों के इस्तेमाल से बने या उत्पादित सामान शामिल हैं। सीबीपी अमेरिकी सप्लाई चेन से जुड़े जबरन श्रम के आरोपों की जांच करती है, और ये शिनजियांग और अन्य जगहों पर पॉलीसिलिकॉन उद्योग और अन्य उद्योगों को लेकर लगे आरोपों की जांच जारी रखेगी।

सीबीपी की जबरन श्रम संबंधी जांच के कारण वित्तीय वर्ष 2021 में छह विदहोल्ड रिलीज़ ऑर्डर जारी किए जा चुके हैं, जिनमें से एक शिनजियांग क्षेत्र के कपास और टमाटर उत्पादों के खिलाफ़, दूसरा शिनजियांग प्रोडक्शन एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्प्स (एक्सपीसीसी) के कपास उत्पादों के खिलाफ़ और एक अन्य डालियान ओशन फिशिंग कंपनी लिमिटेड के खिलाफ़ है। जैसा कि डालियान के खिलाफ़ डब्ल्यूआरओ से जाहिर है, अमेरिका शिनजियांग से परे भी पीआरसी की जबरन श्रम प्रथा का मुक़ाबला करने हेतु कार्रवाई कर रहा है — जिसमें समुद्री खाद्य उद्योग भी शामिल है। वर्तमान में, 49 सक्रिय डब्ल्यूआरओ में से 35 पीआरसी से आने वाली सामग्रियों के खिलाफ़ हैं, जिनमें से 11 डब्ल्यूआरओ शिनजियांग में जबरन श्रम की मदद से निर्मित सामानों के खिलाफ़ हैं।

वाणिज्य विभाग ने प्रतिबंधित उपक्रमों की सूची को अपडेट किया: वाणिज्य विभाग के उद्योग एवं सुरक्षा ब्यूरो ने प्रतिबंधित उपक्रमों की सूची में शिनजियांग में जबरन श्रम प्रथाओं की स्वीकृति या उपयोग में शामिल तथा शिनजियांग में उइगर और अन्य अल्पसंख्यक समूहों के खिलाफ़ मानवाधिकारों के हनन में योगदान करने वाले पीआरसी के पांच उपक्रमों को शामिल किया है: होशाइन सिलिकॉन इंडस्ट्री (शानशान); शिनजियांग दाक़ो न्यू एनर्जी; शिनजियांग ईस्ट होप नॉनफ़ेरस मेटल; शिनजियांग जीसीएल न्यू एनर्जी मैटेरियल टेक्नोलॉजी, और एक्सपीसीसी। यह कार्रवाई, जो पहले से ही शिनजियांग में मानवाधिकारों के हनन से संबंधित प्रतिबंधित उपक्रमों की सूची में शामिल पीआरसी के 48 उपक्रमों के अतिरिक्त हैं, निर्यात प्रबंधन नियमों के तहत उन वस्तुओं, सॉफ्टवेयर और प्रौद्योगिकी के निर्यात, पुनर्निर्यात, या स्वदेश में हस्तांतरण को प्रतिबंधित करती है, जिनसे ये उपक्रम लेनदेन के एक पक्ष (जैसे, आख़िरी प्रयोक्ता, क्रेता, या मध्यवर्ती/अंतिम प्राप्तकर्ता) के तौर पर संबद्ध हैं।

श्रम विभाग ने “बाल श्रम या जबरन श्रम द्वारा उत्पादित वस्तुओं की सूची” को अपडेट किया: श्रम विभाग ने एक संघीय रजिस्टर नोटिस के प्रकाशन के ज़रिए “बाल श्रम या जबरन श्रम द्वारा उत्पादित सामानों की सूची” को अपडेट कर उसमें पीआरसी में जबरन श्रम से उत्पादित पॉलीसिलिकॉन को शामिल कर लिया है। हर दो साल में, श्रम विभाग अंतरराष्ट्रीय मानकों की अवहेलना कर बाल श्रम या जबरन श्रम के उपयोग से उत्पादित वस्तुओं की एक अद्यतन सूची प्रकाशित करता है। ये पहला मौक़ा है कि जब किसी उत्पाद को जोड़ने के लिए दो साल के चक्र के बाहर इस सूची को अपडेट किया गया है, जो शिनजियांग में उइगर और अन्य अल्पसंख्यक समूहों के मानवाधिकारों के हनन की गंभीरता के मद्देनज़र विभाग की कड़ी प्रतिक्रिया को दर्शाता है। रिपोर्ट में वर्तमान में पीआरसी के अन्य उत्पाद भी शामिल हैं, जिनका संबंध शिनजियांग में या पीआसी के अन्य भागों में भेजे गए उइगर श्रमिकों से कराए जाने वाले जबरन श्रम से है, जिसमें कपास, परिधान, जूते, इलेक्ट्रॉनिक्स, दस्ताने, बालों से संबंधित उत्पाद, कपड़े, धागे और टमाटर आधारित उत्पाद शामिल हैं।


मूल स्रोत: https://www.whitehouse.gov/briefing-room/statements-releases/2021/06/24/fact-sheet-new-u-s-government-actions-on-forced-labor-in-xinjiang/ 

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future