तत्काल जारी करने के लिए
व्हाइट हाउस
फरवरी 22, 2022
ईस्ट रूम
2:22 अपराह्न, ईएसटी

राष्ट्रपति:  अपना मन बनाने की कोशिश कर रहे हैं, है न? (हंसी।)

नमस्कार। कल, व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के दो क्षेत्रों को स्वतंत्र देशों के रूप में मान्यता दी, और अजीब बात है कि उन्होंने इन क्षेत्रों के अब यूक्रेन और उसके संप्रभु इलाक़े का हिस्सा नहीं होने पर ज़ोर दिया। सीधे शब्दों में कहें तो रूस ने ये घोषणा की है कि वह यूक्रेन से उसके एक बड़े हिस्से को काट रहा है।

कल रात, पुतिन ने रूसी सेना को इन क्षेत्रों में तैनाती हेतु अधिकृत किया था। आज, उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि ये क्षेत्र वास्तव में उन दो इलाक़ों की तुलना में कहीं अधिक बड़े हैं जिन्हें उन्होंने मान्यता दी है, और उन्होंने वर्तमान में यूक्रेन सरकार के अधिकार वाले एक बड़े इलाक़े पर अपना दावा किया।

मेरे विचार से, वह और अधिक इलाक़ों पर क़ब्ज़ा करने का औचित्य स्थापित कर रहे हैं। और अगर हम उनके कल रात के भाषण को सुनें – जिसे मुझे पता है आप में से बहुतों ने सुना है – तो वह बहुत आगे तक बढ़ने के पक्ष में दलील दे रहे हैं।

यह यूक्रेन पर रूसी हमले की शुरुआत है, जैसा कि उन्होंने संकेत दिया और अपनी संसद से ऐसा करने देने की अनुमति मांगी है।

तो, सबसे पहले बता दूं कि मैं इसके जवाब में प्रतिबंध लगाने की शुरुआत कर रहा हूं, जो 2014 में उठाए गए क़दमों के मुक़ाबले बहुत आगे तक जाते हैं। और अगर रूस इस हमले को आगे बढ़ाता है, तो हम भी प्रतिबंध बढ़ाने के लिए तैयार हैं।

भला किसने पुतिन को ये अधिकार दिया है कि वे अपने पड़ोसी के इलाक़े में तथाकथित नए देश घोषित करें? यह अंतरराष्ट्रीय क़ानून का खुला उल्लंघन है और इसके लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कड़ी प्रतिक्रिया की अपेक्षा की जाती है।

पिछले कुछ महीनों में, हमने उस प्रतिक्रिया को तैयार करने के लिए यूरोप और दुनिया भर में अपने नैटो सहयोगियों और साझेदारों के साथ निकट समन्वय किया है। हमने हमेशा कहा है और मैंने पुतिन से आमने-सामने कहा था, एक महीने से अधिक हुए होंगे, कि रूस के यूक्रेन के खिलाफ़ आगे बढ़ते ही हम एकजुट क़दम उठाएंगे।

इन स्वतंत्र देशों की घोषणा करके रूस अब निर्विवाद रूप से यूक्रेन के खिलाफ़ बढ़ चुका है।

इसलिए, आज, मैं रूस पर उसकी कल की कार्रवाई की क़ीमत थोपने के लिए प्रतिबंधों की पहली किस्त की घोषणा कर रहा हूं। ये क़दम हमारे सहयोगी देशों और साझेदारों के साथ निकट समन्वय में उठाए जा रहे हैं, और यदि रूस और आगे बढ़ता है तो हम प्रतिबंध बढ़ाना जारी रखेंगे।

हम इन दो बड़े रूसी वित्तीय संस्थानों पर पूर्ण अवरोधात्मक प्रतिबंध लागू कर रहे हैं: वी.ई.बी. और उनका सैन्य बैंक।

हम रूसी संप्रभु ऋण पर व्यापक प्रतिबंध लागू कर रहे हैं। इसका मतलब है कि हमने रूस की सरकार को पश्चिमी जगत के वित्त पोषण तंत्र से काट दिया है। वह अब पश्चिमी देशों से धन नहीं जुटा सकती है और न ही हमारे बाज़ारों या यूरोपीय बाज़ारों में अपने नए क़र्ज़ों से संबंधित लेनदेन कर सकती है।

कल से [आज], हम रूस के विशिष्ट वर्ग और उनके परिजनों पर भी प्रतिबंध लगा रहे हैं, और आने वाले दिनों में भी इसका सिलसिला जारी रहेगा। ये लोग क्रेमलिन की नीतियों के ज़रिए होने वाले अवैध लाभ में भागीदार हैं, और उन्हें पीड़ा में भी भागीदार बनना पड़ेगा।

और रूस की कार्रवाइयों के मद्देनज़र, हमने यह सुनिश्चित करने के लिए जर्मनी के साथ काम किया है कि नॉर्ड स्ट्रीम 2 परियोजना आगे नहीं बढ़े – जैसा कि मैंने वादा किया था।

जब रूस अपने अगले क़दम पर विचार कर रहा है, हम भी अपने अगले क़दम को लेकर तैयार हैं। यदि रूस अपनी आक्रामकता जारी रखता है तो अतिरिक्त प्रतिबंधों समेत उसे और भी अधिक क़ीमत चुकानी होगी।

इस बीच, अमेरिका यूक्रेन को रक्षात्मक मदद देना जारी रखेगा। और हम अपने नैटो सहयोगियों को सुदृढ़ और आश्वस्त करना जारी रखेंगे।

आज, रूस की इस स्वीकारोक्ति के जवाब में कि वह बेलारूस से अपनी सेना वापस नहीं बुलाएगा, मैंने हमारे बाल्टिक सहयोगी देशों – एस्टोनिया, लातविया और लिथुआनिया – को मज़बूत करने के लिए पहले से ही यूरोप में मौजूद अमेरिकी सैनिकों और उपकरणों की अतिरिक्त तैनाती की मंज़ूरी दी है।

मैं स्पष्ट कर दूं: ये पूरी तरह से हमारा रक्षात्मक क़दम हैं। रूस से लड़ने का हमारा कोई इरादा नहीं है। लेकिन, हम एक स्पष्ट संदेश देना चाहते हैं, कि अमेरिका, अपने सहयोगी देशों के साथ, नैटो क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेगा और नैटो के लिए की गई अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन करेगा।

हमारा अब भी यही मानना है कि रूस यूक्रेन पर एक व्यापक सैन्य हमला करने के लिए बहुत आगे तक जाने को तैयार है। मैं उम्मीद करूंगा कि हमारी ये सोच गलत साबित हो जाए। लेकिन रूस ने राजधानी कीएव समेत प्रमुख शहरों और शेष यूक्रेनी इलाक़ों पर अपना ख़तरा बढ़ा दिया है।

अभी भी यूक्रेन के इर्दगिर्द 150,000 से अधिक रूसी सैनिक तैनात हैं। और जैसा कि मैंने कहा, रूसी सेना उत्तर से यूक्रेन पर हमला करने के लिए युद्धक विमानों और मारक मिसाइलों समेत बेलारूस में जमी हुई है।

रूस ने अपने सैनिकों को यूक्रेन की सीमा के क़रीब भेज दिया है। यूक्रेन के दक्षिण स्थित काला सागर में रूसी नौसैनिक पोत युद्धाभ्यास कर रहे हैं, जिसमें उभयचर हमले वाले जहाज़, मिसाइल क्रूज़र और पनडुब्बियां शामिल हैं।

रूस ने रक्त और चिकित्सा उपकरणों के आपूर्ति तंत्र को अपनी सीमा से लगे ठिकानों पर तैनात कर दिया है। युद्ध शुरू करने की योजना के बिना भला इस तरह रक्त की आवश्यकता क्यों होती।

और पिछले कुछ दिनों में हमने देखा है कि संयुक्तराष्ट्र सुरक्षा परिषद में विदेश मंत्री ब्लिंकन ने गत सप्ताह जिन रूसी हथकंडों का ब्यौरा दिया था, उसमें से अधिकांश कार्यान्वित हो चुके हैं: डोनबास में संपर्क रेखा से लगे इलाक़ों में रूस द्वारा सैन्य उकसावे के मामलों और स्वरचित झूठी घटनाओं में भारी वृद्धि; रूसी जनता को दिखाने के लिए पुतिन की सुरक्षा परिषद की नाटकीय ऑन-कैमरा बैठक; और अब अंतरराष्ट्रीय क़ानून का खुला उल्लंघन करते हुए संप्रभु यूक्रेनी क्षेत्र को तथाकथित स्वतंत्र गणराज्यों के रूप में मान्यता देने की उकसावे की राजनीतिक कार्रवाई।

राष्ट्रपति पुतिन ने रूसी संसद से रूसी सीमा के बाहर सेना के इस्तेमाल की स्वीकृति मांगी। और, इससे रूस के लिए आगे और सैन्य कार्रवाई को सही ठहराने हेतु बहाने तैयार करने और उकसावे की कार्रवाई करने के लिए वातावरण तैयार होता है।

हममें से किसी को भी झांसे में नहीं आना चाहिए। हममें से किसी को भी मूर्ख नहीं बनाया जा सकता। कोई औचित्य नहीं है।

आने वाले दिनों में यूक्रेन में आगे और रूसी हमले का गंभीर ख़तरा बना हुआ है। और अगर रूस आगे बढ़ता है, तो इसकी ज़िम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ रूस की होगी।

जहां हम जवाबी क़दम उठा रहे हैं, मेरा प्रशासन अमेरिकी व्यवसायों और उपभोक्ताओं को पेट्रोल पंपों पर बढ़ती क़ीमतों से सुरक्षित रखने के लिए हरसंभव उपाय कर रहा है। जैसा कि मैंने पिछले सप्ताह कहा था, स्वतंत्रता की रक्षा करने की लागत हमें भी, यहां स्वदेश में, उठानी पड़ेगी। हमें इस बात को ईमानदारी से स्वीकार करने की ज़रूरत है।

लेकिन ये कार्रवाई करते हुए, मैं यह सुनिश्चित करने के लिए ठोस क़दम उठाने जा रहा हूं कि हमारे प्रतिबंधों की पीड़ा केवल रूसी अर्थव्यवस्था को ही उठानी पड़े, हमारी अर्थव्यवस्था को नहीं।

हम इस बात की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं की हमारी ऊर्जा आपूर्ति में किसी भी तरह का व्यवधान नहीं पड़े। हम वैश्विक स्थिरता और ऊर्जा आपूर्ति की सुरक्षा के लिए प्रमुख तेल उपभोक्ताओं और उत्पादकों के साथ समन्वय में सामूहिक निवेश से संबंधित एक योजना को क्रियान्वित कर रहे हैं।

यह गैस की क़ीमतों को काबू में रखेगी। मैं उस पीड़ा को सीमित करना चाहता हूं जो अमेरिकी लोग पेट्रोल पंपों पर महसूस कर रहे हैं। यह मेरे लिए महत्वपूर्ण है।

पिछले कुछ दिनों के दौरान, मैं यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की सहित यूरोपीय नेताओं के साथ लगातार संपर्क में रहा हूं। उपराष्ट्रपति हैरिस ने गत सप्ताहांत जर्मनी में  म्यूनिख सम्मेलन के दौरान विभिन्न नेताओं से व्यक्तिगत मुलाक़ातें कीं, जिनमें राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की भी शामिल थे।

हर क़दम पर, हमने दिखाया है कि अमेरिका और हमारे सहयोगी देश एवं साझेदार साथ मिलकर काम कर रहे हैं – जिसका उन्हें, मिस्टर पुतिन को, अंदाज़ा नहीं रहा होगा। हम यूक्रेन के समर्थन में एकजुट हैं। हम रूसी आक्रमण के विरोध में एकजुट हैं। और हम अपने नैटो गठबंधन की रक्षा के संकल्प को लेकर एकजुट हैं। और हम वैश्विक शांति और स्थिरता पर रूस द्वारा पैदा किए जा रहे ख़तरे की तात्कालिकता और गंभीरता को लेकर एकजुट हैं।

कल, दुनिया ने व्लादिमीर पुतिन द्वारा इतिहास की विकृत पुनर्व्याख्या को पूरी स्पष्टता और विस्तार से सुना, एक सदी से भी अधिक पुराने अतीत के बारे में, उन्होंने लच्छेदार भाषा में कहा – ख़ैर, मैं उसमें नहीं जा रहा, लेकिन पुतिन के लंबे भाषण ऐसा कुछ भी नहीं था कि जिससे वर्ष 2022 में यूरोपीय सुरक्षा पर वास्तविक संवाद को आगे बढ़ाने में उनकी किसी भी तरह की रुचि का संकेत मिलता हो।

उन्होंने यूक्रेन के अस्तित्व के अधिकार पर प्रत्यक्ष हमला किया। उन्होंने पूर्व में रूस के नियंत्रण में रहे इलाक़ों के खिलाफ़ परोक्ष रूप से धमकी दी, जिनमें वे राष्ट्र भी शामिल हैं जो आज संपन्न लोकतंत्र और नैटो के सदस्य हैं। उन्होंने अपनी अतिशय मांगों को नहीं माने जाने पर युद्ध की खुली धमकी दी।

और, इसमें कोई शक नहीं है कि रूस हमलावर है। इसलिए अपने सामने मौजूद चुनौतियों को लेकर हमारा नज़रिया स्पष्ट है।

तथापि, सबसे बुरी स्थिति – जो उनके अपनी मंशा के अनुरूप आगे बढ़ने पर लाखों लोगों के लिए अकथनीय पीड़ा का कारण बनेगी – को टालने के लिए अभी भी वक़्त है।

अमेरिका और हमारे सहयोगी देश एवं साझेदार कूटनीति में शामिल होने के लिए अब भी तैयार हैं, बशर्ते गंभीर प्रयास किया जाता हो। आखिरकार, हम रूस को उसके कार्यों से आंकेंगे, उसकी बातों से नहीं।

और रूस आगे जो कुछ भी करता है, हम एकता, स्पष्टता और दृढ़ विश्वास के साथ जवाब देने के लिए तैयार हैं।

हम इस बारे में और भी बात कर सकेंगे, यदि घटनाक्रम आगे बढ़ता है। मैं उम्मीद करता हूं कि कूटनीति का अवसर अभी भी मौजूद है।

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद।

2:32 अपराह्न, ईएसटी


मूल स्रोत: https://www.whitehouse.gov/briefing-room/speeches-remarks/2022/02/22/remarks-by-president-biden-announcing-response-to-russian-actions-in-ukraine/

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future