अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
मई 3, 2021
प्रेस को संबोधन

ग्रॉसवेनर हाउस होटल
लंदन, ब्रिटेन

विदेश मंत्री जयशंकर:  मैं बताना चाहूंगा कि विदेश मंत्री ब्लिंकन के साथ मेरी मुलाक़ात बहुत अच्छी रही। जिन बहुत सारे विषयों पर हमने चर्चा की उनमें सबसे पहला और सबसे प्रमुख था कोविड की स्थिति से निपटने को लेकर हमें अमेरिका से मिल रहा मज़बूत समर्थन। हम इसकी बहुत सराहना करते हैं।

हमने इस बात पर भी चर्चा की कि हमारा परस्पर सहयोग कैसे वैश्विक स्तर पर टीकाकरण क्षमता के विस्तार में मदद कर सकता है। इसके अलावा, अनेक अन्य मामलों पर भी (अश्रव्य)…।

विदेश मंत्री ब्लिंकन:  और सबसे पहले ये कहना चाहूंगा कि अपने मित्र और कई वर्षों के सहयोगी, विदेश मंत्री जयशंकर से मिलना कितना सुखद लगा। हमें अच्छी तरह से याद है कि कोविड के शुरुआती दिनों में कैसे भारत बहुत ही महत्वपूर्ण और प्रभावशाली तरीक़े से हमारी सहायता के लिए आगे आया था, और हम इस लड़ाई में एक साथ शामिल हैं और हम मदद की हरसंभव कोशिश करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, और फिर इस सचमुच की वैश्विक चुनौती से निपटने में मदद के लिए हमारे दोनों देश और अधिक घनिष्ठता से काम करेंगे। और हमने आज इस बारे में बहुत अच्छी चर्चा की – इसके बारे में, और जैसा कि विदेश मंत्री ने कहा, कई अन्य मुद्दों के बारे में भी।

आपका धन्यवाद। आपसे मिलकर अच्छा लगा। बहुत-बहुत धन्यवाद।


मूल स्रोत: https://www.state.gov/secretary-antony-j-blinken-with-indian-minister-of-external-affairs-dr-subrahmanyam-jaishankar-after-their-meeting/.

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future