अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
विदेश मंत्री एंटनी जे. ब्लिंकन
मार्च 1, 2021

आज हम अमेरिकी शांति वाहिनी की 60वीं वर्षगांठ मनाते हुए उन स्वयंसेवकों एवं कर्मचारियों को याद कर रहे हैं जिन्होंने अमेरिकी मूल्यों और आदर्शों का प्रतिनिधित्व करते हुए दुनिया भर में विभिन्न समुदायों की सेवा की है। राष्ट्रपति जॉन एफ़. केनेडी द्वारा 1961 में स्थापित शांति वाहिनी अमेरिका के सर्वश्रेष्ठ रूप को प्रस्तुत करती है और हमारी निरंतर वैश्विक उपस्थिति और नेतृत्व के महत्व को उजागर करती है। शांति वाहिनी के स्वयंसेवक हमें दिखाते हैं कि अपनी मिसाल की ताक़त के सहारे नेतृत्व करने का क्या मतलब होता है।

शांति वाहिनी के स्वयंसेवक खुद को स्थानीय संस्कृति से सराबोर कर लेते हैं, उन समुदायों की भाषाओं को सीखते हैं जिनकी कि वे सेवा कर रहे होते हैं, टिकाऊ मित्रता स्थापित करते हैं, और दुनिया भर में अमेरिकी जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं। स्वदेश वापसी पर वे अन्य अमेरिकियों के साथ अपनी कहानियों, अनुभवों और कौशल को साझा करते हैं, और एक गहरी अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं जोकि उन्हें परिवारों, समुदायों और कार्यस्थलों में नेतृत्वकारी भूमिका निभाने में मदद करती हैं। हालांकि कोविड-19 ने अभूतपूर्व चुनौतियां पेश की हैं, लेकिन मुझे पता है कि शांति वाहिनी के सभी स्वयंसेवक सेवा में लौटने के लिए उत्सुक हैं, जैसे ही ऐसा करना सुरक्षित होता हो। और जब वे ऐसा करेंगे, तो एक बार फिर वे अमेरिकी मूल्यों के हमारे सबसे महत्वपूर्ण राजदूतों के रूप में अपनी भूमिका निभा रहे होंगे और वे विदेशों में सीखी गई जानकारियां अमेरिका लेकर आएंगे। विदेश विभाग में, हम शांति वाहिनी के उन अनेक पूर्व स्वयंसेवकों के आभारी हैं जोकि विदेश सेवा और सिविल सेवा के तहत दुनिया भर में काम कर रहे हैं। मेरे लिए ये गर्व की बात है कि मुझे अपने देशहित के लिए उनके साथ काम करने का मौक़ा मिला है।

मैं इस अहम अवसर पर अमेरिकी शांति वाहिनी को हार्दिक बधाई देता हूं!


मूल स्रोत: https://www.state.gov/60th-anniversary-of-the-peace-corps/

अस्वीकरण: यह अनुवाद शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेज़ी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।

U.S. Department of State

The Lessons of 1989: Freedom and Our Future